24/03/2009

सियासत की जंग में आगे बढ़ गयी एक कार




आनंद राय, गोरखपुर


तेईस मार्च लोहिया और भगत सिंह की यादों की तारीख ।इस दिन कौन बनेगा प्रधान मंत्री कार्यक्रम के लिए स्टार न्यूज़ के दीपक चौरसिया ने पता नही क्यों गोरखपुर को चुना। जगह भी इस तारीख के मुकाबले बेहद उम्दा। मुंशी प्रेमचंद पार्क। स्टेज के ठीक पीछे सब कुछ देखती हुई प्रेमचंद की प्रतिमा, अचानक दृश्य बदल गए। दीपक ने कार्यक्रम की शुरूआत में हाजिर सपा उम्मीदवार मनोज मृदुल और गोरखपुर की मेयर अंजू चौधरी का परिचय कराया। फ़िर एक सवाल जनता की ओर उछाला क्या यहाँ योगी को आना चाहिए। योगी भाजपा के उम्मीदवार हैं और तीन बार से यहाँ के सांसद हैं। कुछ उनके पक्ष में और कुछ विरोध में खड़े थे। दीपक ने बात आगे बढ़ाई और एक नया सवाल दे दिया। क्या वरुण ने जो कहा ठीक कहा। फ़िर कुछ पक्ष और कुछ विपक्ष में बोलने को तैयार। शो में प्रधानमंत्री के बारे में कोई बात नही हो पायी। बहस का दायरा बदल गया। योगी के समर्थक मनोज के ख़िलाफ़ और मनोज के समर्थक योगी के ख़िलाफ़ बोलने लगे। एक बारगी बहस भूमि रण भूमि की तरह नजर आने लगी। पुलिस परेशान। पर दीपक के लिए इस शो के मायने थे। टीआरपी बढ़ाने वाले इस शो से दीपक के चेहरा खिल गया था। ३० मिनट के इस कार्यक्रम में स्थानीय मुद्दे उठने लगे थे और मामला पूरा रोमांचक हो गया। पर जो लोग लाइव कार्यक्रम के लिए टी वी पर निगाहें टिकाये बैठे थे वे उबने लगे। पहले तय था यह कार्यक्रम ८ बजे से ८.३० तक chalegaa। पर यह नही हो सका। सियासत की जंग पर maaruti और naino की जंग bhaaree पड़ गयी। दीपक के लिए यह mushkil bhare KShaN थे। उनके पास दर्शकों को आश्वासन देने के सिवाय कुछ नही था। लोग यह सुनना चाह रहे थे क्यों कार्यक्रम dikhaayaa नही गया। दीपक की lokpriyataa की वजह से सब कुछ sambhal गया। सियासत की जंग में एक कार आगे बढ़ गयी।

कोई टिप्पणी नहीं:

..............................
Bookmark and Share