06/10/2009

अखिलेश नहीं चाहते थे डिम्पल लडें चुनाव





आनन्द राय,


समाजवादी  पार्टी  का प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के बाद अखिलेश सिंह यादव जब पहली बार गोरखपुर आये उसी समय पार्टी ने उनकी पत्नी डिम्पल यादव को उप चुनाव के लिए उम्मीदवार घोषित किया था. यूं तो मुलायम के घर में परिवारवाद की बात कई दफे हमने उनके घर वालों से पूछी है लेकिन इस बार जब अखिलेश से पूछा तो बिलकुल नए अंदाज में बोले. कहने लगे कि मैं तो चाहता ही नहीं कि पत्नी चुनाव लडे. यह बहुत कम लोगों को पता होगा कि मेरे तीन बच्चे हैं. इसमें दो जुड़वा हैं. माँ से बच्चों को बहुत लगाव है. चुनाव में और राजनीति में आने पर बच्चों को समय नहीं मिल पायेगा लेकिन पार्टी के कार्यकर्ताओं और शीर्ष नेताओं के कहने पर मैं उनको चुनाव लड़ाने के लिए तैयार हुआ. 


अखिलेश ने कुछ तीखे सवालों को चतुराई से खारिज किया. उनका कहना था कि हमारी पार्टी में परिवारवाद नहीं है बल्कि सेवा भाव है. सब लोग जनता की सेवा के लिए आतुर हैं. यही सवाल उनसे कई साल पहले किया गया था. जब पूछा गया कि क्यों घर के ही लोगों को राज्य सभा और लोकसभा से लेकर विधानसभा और पंचायत तक भेजा जा रहा है! तो अखिलेश ने छूटते ही कहा अभी लोग परेशान क्यों हैं, अभी तो हमारे घर से एक और सांसद हो रहे हैं तब जलन और बढ़ जायेगी. उनके इस जवाब के कुछ समय बाद ही धर्मेन्द्र यादव को भी संसद में जाने का मौका मिल गया. धीरे धीरे राजनीति में परिपक्वता आती है. अखिलेश में भी आ रही है. अब वे सोच समझ कर बोलने लगे हैं. लोग उनकी तुलना मुलायम सिंह यादव से करते हैं. हमारे कुछ अखबारी दोस्त कहते हैं- यह मुलायम से तो अच्छा है. इसकी बात तो समझ में आती है. सच्ची मुलायम की कवरेज़ में उनकी आवाज को लेकर बहुत परेशानी होती है. बहरहाल अब अखिलेश की पत्नी डिम्पल यादव  अपने चुनाव क्षेत्र में डंका बजा रही हैं और उन्हें देखने के लिए भीड़ भी उमड़ रही है....

2 टिप्‍पणियां:

श्रीश पाठक 'प्रखर' ने कहा…

आनंद जी जनता सब समझती है, परिवारवाद की राजनीति तो अब जैसे स्वाभाविक हो चुकी हो..सार्थक विकल्प भी कितने शेष रह जाते हैं... लोग विवश हैं और छोटे-छोटे स्वार्थ सबके ही होते हैं...

anand ने कहा…

anand bhai samajwadi party apne karykartao ke bahut hit me kam karti hai ,kya akhilesh ji ko koi aisa sipahsalar nahi mila jo lar sake ya har ka dar tha

..............................
Bookmark and Share