02/06/2008

मजबूरी


अपने अपने हिस्से का दर्द सभी सहते हैं पर अब तो दूसरो के हिस्से का भी दर्द सहना पड़ता है। गोरखपुर में ब्लू फिल्मों के रैकेट का मामला सामने आया तो कई चेहरे बेनकाब हो गए। कुछ अभी परदा डाले हुए हैं। मासूम बच्चियों की मजबूरी का लाभ उठा कर उनके साथ मुंह काला कटरने वालों की पुलिस ने लम्बी सूची बनायी है। अब इनमे से कुछ अपना मुंह छिपाये घूम रहे हैं तो कुछ के बदले कुछ और लोग पुलिस के हाथे चढ़ रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

..............................
Bookmark and Share